होली के रंगों से बालों को बचाने के लिए टिप्स

होली के रंगों से बालों को बचाने के लिए टिप्स - होली, रंगों तथा प्रेम का त्यौहार है। इस दिन दुश्मन भी सभी गिले शिकवे भुला कर आपस में गले मिल जाते हैं।

आपसी प्रेम का प्रदर्शन एक दूसरे को रंग में रंगकर प्रकट किया जाता है। रंगों में मुख्यतया गुलाल तथा पक्के रंग काम में लिए जाते हैं।

पुराने जमाने में होली, सिर्फ और सिर्फ गुलाल से ही खेली जाती थी। यह गुलाल शुद्ध रूप से प्राकृतिक होती थी तथा मुख्यतया फूलों से बनाई जाती थी। प्राकृतिक होने के कारण इसके दुष्प्रभाव नहीं होते थे।

आज के समय होली खेलने के लिए जो रंग काम में लिए जा रहे हैं वो पूर्णतया कृत्रिम रूप से बनाए जाते हैं। इन रंगों को बनाने के लिए केमिकल्स काम में लिए जाते हैं जिनका शरीर पर बहुत घातक दुष्प्रभाव पड़ता है।

जब इन रंगों को शरीर पर लगाया जाता है तब त्वचा, आँख एवं बालों पर इनका सबसे अधिक प्रभाव पड़ता है।

होली के रंगों का सर्वाधिक दुष्प्रभाव बालों पर पड़ता है। रंगों में शामिल रसायनों की वजह से बालों को काफी अधिक दुष्प्रभाव झेलने पड़ते हैं जिनमें बालों का टूटना, बालों का रूखापन, बालों का कमजोर होना तथा एलर्जी की समस्या प्रमुख है।

View Useful Health Tips & Issues in Pharmacy

बालों को रंगों के इन दुष्प्रभावों से बचाने के लिए अगर कुछ उपाय कर लिए जाएँ तो इस समस्या से कुछ हद तक मुक्ति पाई जा सकती है। हम आपको होली के रंगों से अपने बालों को बचाने के लिए कुछ टिप्स बता रहे हैं जो आपके बालों की लम्बी उम्र के लिए अत्यंत लाभदायक साबित हो सकती है।

कहते हैं कि बचाव ही उपाय होता है अतः सबसे प्रमुख उपाय तो आपको होली खेलने से पहले ही करना है। आपको होली खेलने से पहले अपने सर में अच्छी तरह से नारियल का तेल लगा लेना चाहिए क्योंकि नारियल के तेल की वजह से कोई भी रंग बालों में अपनी पकड़ नहीं बना पाएगा और नहाते समय सारा रंग आसानी से उतर जाएगा।

अगर नारियल का तेल उपलब्ध नहीं है तो आप सरसों का तेल भी काम में ले सकते हैं। सर के साथ-साथ यह तेल आप सम्पूर्ण शरीर पर भी अच्छी तरह से लगा सकते हैं। होली खेलने से पहले बालों में शैम्पू नहीं किया हुआ होना चाहिए।

Join Online Test Series of Pharmacy, Nursing & Homeopathy

अगर आप होली खेलने से पहले आपने बालों के लिए उपरोक्त उपाय नहीं कर पाए तो होली खेलने के पश्चात सबसे पहले आपको अपने बालों को बहुत अच्छी तरह से धोना पड़ेगा।

बालों को धोने के लिए कोई भी हर्बल शैम्पू काम में लिया जा सकता है। शैम्पू करने के बाद कंडीशनर का उपयोग करना भी फायदेमंद रहता है। बालों को नींबू के पानी से या फिर नींबू के रस से भी धोया जा सकता है।

नींबू की वजह से बालों का पीएच बना रहता है अर्थात अम्लता तथा क्षारकता में बैलेंस बना रहता है। बाल धोने के बाद बालों में तेल अवश्य लगाना चाहिए जिसे बालों का रूखापन समाप्त हो जाता है।

Buy Domain and Hosting at Reasonable Price

बालों पर डीप कंडीशनिंग भी की जा सकती है जिसके लिए आधा बड़ा चम्मच जैतून तथा नारियल के तेल को एक बड़े चम्मच शहद तथा दही के साथ मिलाकर उसे एक घंटे तक बालों पर लगाकर रखना है।

एक घंटे बाद बालों को अच्छी तरह से धो लेना है। इस प्रक्रिया के पश्चात आप पाएँगे कि आपके बाल मुलायम तथा चमकदार हो जाएँगे।

इस प्रकार हम देखते है कि उपरोक्त कुछ उपाय करने से हम होली के इन खतरनाक रंगों से अपने बालों को कुछ हद तक बचा सकते हैं।

होली के रंगों से बालों को बचाने के लिए टिप्स Tips to save hair with colors of Holi

Post a comment

0 Comments