स्वाति मीणा नायक है तेज तर्रार कलेक्टर

स्वाति मीणा नायक है तेज तर्रार कलेक्टर - मध्यप्रदेश के खंडवा जिले की कलक्टर स्वाति मीना नायक श्रीमाधोपुर तहसील के छोटे से गाँव बुरजा की ढाणी की रहने वाली हैं।

वर्ष 2007 में इन्होंने साढ़े बाईस वर्ष की उम्र में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) की परीक्षा को अपने प्रथम प्रयास में उत्तीर्ण कर 260 वीं रैंक प्राप्त की।

वर्ष 1984 में जन्मीं स्वाति उस समय अपने बैच में सबसे कम उम्र की थी। बचपन से ही स्वाति की पढ़ने लिखने में बहुत रूचि रही है।

इनकी प्रारंभिक शिक्षा से लेकर कॉलेज स्तर की शिक्षा सोफिया स्कूल तथा सोफिया कॉलेज अजमेर से हुई है। कॉलेज की पढ़ाई पूर्ण करने के बाद ये भारतीय प्रशासनिक सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली चली गई।

इनकी प्रथम पोस्टिंग वर्ष 2012 में मध्य प्रदेश के मंडला की जिला कलेक्टर के रूप में हुई। निर्भीक विचारों वाली स्वाति एक तेज तर्रार 'नो नॉनसेंस एडमिनिस्ट्रेटर' के रूप में अधिक विख्यात है।

अपने कार्य को पूर्ण ईमानदारी के साथ अंजाम देना इनकी खूबी है फिर चाहे किसी भी तरह का राजनीतिक दखल ही क्यों न हो। ये सिर्फ जनता की वाजिब मांगो को सुनकर उसे पूर्ण करने के लिए हमेशा तत्पर रहती है।

सामान्यतया ये फील्ड वर्क को अधिक पसंद करती है जिसके लिए इन्होंने नक्सल प्रभावित जिले में जंगल के अंदरूनी गाँवों में जाकर भी लोगों की समस्याओं को सुनकर उन्हें दूर करने का प्रयास किया है।

स्वाति अपने कामों की वजह से अमूमन समाचारों की सुर्खियों में बनी रहती है। जब ये मध्यप्रदेश में मंडला की कलेक्टर थी तब इन्होंने नर्मदा नदी के रेत माफियाओं तथा माइनिंग माफियाओं पर प्रतिबन्ध लगाकर उनके अवैध कार्यों को रोक दिया था।

अभी ये मध्य प्रदेश के खंडवा जिले की कलेक्टर के बतौर कार्यरत हैं। यहाँ पर इन्होंने महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए 'पंख' नामक नई योजना का नवाचार कर उन्हें सुरक्षा, आत्मनिर्भरता एवं जेंडर संवेदीकरण के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए 'पंख' दल का गठन किया।

इस दल का प्रमुख उद्देश्य समाज में बालिकाओं और महिलाओं के प्रति होने वाले भेदभाव को समाप्त कर उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाकर बराबरी का दर्जा दिलवाना है।

'पंख' अंग्रेजी शब्द PANKH का शॉर्ट फॉर्म है जिसमे P का मतलब PROTECTION, A का मतलब AWARENESS, N का मतलब NUTRITION, K का मतलब KNOWLEDGE और H का मतलब HYGIENE से है।

स्वाति के पति तेजस्वी नायक भी कलेक्टर है और वो मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में पोस्टेड हैं। तेजस्वी का जन्म वर्ष 1983 में हुआ था तथा ये मूल रूप से कर्नाटक के सिरसी के रहने वाले हैं।

स्वाति मीणा और तेजस्वी नायक की आपसी पहचान काम के दौरान तब हुई जब स्वाति सीधी में और तेजस्वी कटनी में पोस्टेड थे।

काम के प्रति समर्पण और गरीबों और जरुरतमंदों के विकास तथा उत्थान के लिए दोनों की एक समान सोच ने इस पहचान को गहरी दोस्ती का रंग दिया तथा मई 2014 में यह दोस्ती विवाह के पवित्र बंधन में बंधकर जन्म जन्मान्तर के रिश्ते में बदल गई।

सभी क्षेत्रवासियों की यही अभिलाषा है कि श्रीमाधोपुर क्षेत्र की यह बेटी दृढ़ इरादों के साथ बिना अपने पथ से विचलित हुए अपने कर्तव्यों का पूर्ण इमानदारी के साथ निर्वहन करे तथा प्रगति के पथ पर निरंतर अग्रसर होकर क्षेत्र का नाम रोशन करे।

स्वाति मीणा नायक है तेज तर्रार कलेक्टर Swati Meena Nayak is a sharp collector

Post a Comment

0 Comments