खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य

खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य - बाबा श्याम के मंदिर की वजह से खाटूश्यामजी की महिमा खाटू धाम के रूप में दिन दूनी एवं रात चौगुनी होती जा रही है. फाल्गुन माह में लक्खी मेले के समय यहाँ पर प्रतिदिन लाखों श्रद्धालु अपने आराध्य के दरबार में शीश नवाते हैं.


साधारण दिनों में यह संख्या हजारों में हो जाती है. इतने अधिक लोगों को बाबा श्याम के दर्शन करने में कई-कई घंटों का समय लग जाता है.

खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य

श्याम मंदिर कमेटी ने भक्तों को होने वाली इस समस्या को ध्यान में रखकर मंदिर को नए सिरे से तैयार करवाने के लिए कमर कस ली है. इसके लिए मंदिर का नया डिजाईन वृन्दावन के प्रेम मंदिर की तरह तैयार करवाया जा रहा है.

खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य

नए डिजाईन में इस बात का ध्यान रखा जा रहा है कि मंदिर भव्य होने के साथ-साथ इस प्रकार का हो कि लक्खी मेले में भी श्रद्धालुओं को बाबा के दर्शन करने के लिए एक घंटे से अधिक का समय ना लगे. इस कार्य के लिए मंदिर के नीचे अंडर ग्राउंड फ्लोर भी बनाए जाने की सम्भावना है.

खास बात यह है कि खाटूश्यामजी मंदिर के मूल स्वरुप से कोई छेड़छाड़ नहीं की जाएगी, केवल मंदिर का विस्तार प्रेम मंदिर की तर्ज पर किया जाएगा. मुख्य मंदिर अपने अलौकिक एवं ऐतिहासिक स्वरुप में ही मौजूद रहेगा.

खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य

मंदिर के रेनोवेशन एवं विस्तार में लगभग 150 करोड़ रुपयों की धनराशि के साथ-साथ तीन वर्षों का समय लगेगा. इस प्रकार मंदिर का नया स्वरुप वर्ष 2023 में ही दिख पाएगा.

मंदिर के निर्माण कार्य में प्रेम मंदिर की तरह यहाँ भी इटैलियन करारा संगमरमर का ही इस्तेमाल होगा. प्रेम मंदिर की तरह ही यहाँ पर भी दीवारों पर राधा कृष्ण की लीलाओं को दिखाया जाएगा साथ में विभिन्न झाँकियाँ भी सजाने की योजना है.

खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य

जिस प्रकार प्रेम मंदिर में रात्रि के समय मंदिर की लाइटिंग रंग बदलती है एवं झाँकियाँ मूवमेंट करती हैं, उसी प्रकार यहाँ भी रात्रि के समय मंदिर को आकर्षक दिखने के लिए रंग-बिरंगी लाइटिंग की योजना है.

गौरतलब है कि मथुरा जिले के वृन्दावन में स्थित प्रेम मंदिर का निर्माण जगद्गुरु कृपालु महाराज (रामकृपालु त्रिपाठी) द्वारा भगवान कृष्ण और राधा के मन्दिर के रूप में करवाया गया है. मंदिर के निर्माण में 100 करोड़ रुपयों के साथ-साथ 11 वर्षों का समय भी लगा है.

आज से खाटूश्यामजी के दर्शन दर्शनार्थियों के लिए बंद

मंदिर में राधा-कृष्ण की मनोहर झाँकियाँ, श्री गोवर्धन लीला, कालिया नाग दमन लीला, झूलन लीला की झाँकियों के साथ बगीचे में फव्वारे मौजूद हैं.

खाटूश्यामजी मंदिर भी होगा प्रेम मंदिर की तरह भव्य Khatushyamji Temple will be magnificent like Prem Mandir

खाटूश्यामजी कस्बा नो पार्किंग जोन में तब्दील

Written by:
Ramesh Sharma

ramesh sharma smpr news

Keywords - khatushyamji temple, khatushyamji mandir, news khatushyamji temple, news khatushyamji mandir, khatushyamji mandir renovation, khatushyamji temple renovation, khatushyamji temple expansion, khatushyamji mandir expansion, khatushyamji mandir like prem mandir, khatushyamji temple like prem mandir, prem mandir vrindavan

Subscribe SMPR News Youtube Channel
Connect with SMPR News on Facebook

Post a comment

0 Comments