धनुष धारण करने की वजह से कहलाए धनुषधारी हनुमान

धनुष धारण करने की वजह से कहलाए धनुषधारी हनुमान - जयपुर शहर के पास ही अरावली की सुरम्य पहाड़ियों के बीच कई अनदेखे ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थल मौजूद हैं. इन्ही में से एक धार्मिक स्थल का नाम है धनुषधारी हनुमान मंदिर.


रेलवे स्टेशन से यह मंदिर लगभग 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यहाँ पहुँचने के लिए पथरीली सड़क युक्त दो रास्ते हैं जिन पर बाइक या जीप से जाया जा सकता है.


एक रास्ता विद्याधर नगर से विश्वकर्मा इंडस्ट्रियल एरिया होते हुए तथा दूसरा रास्ता नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क के बगल से लायन सफारी के सामने से होते हुए सिसियावास गाँव में से होकर निकलता है.

दो हजार वर्ष से अधिक पुराना है भूतेश्वर महादेव मंदिर

आमेर तहसील में स्थित यह मंदिर चारों तरफ से रेत के बड़े-बड़े टीलों एवं पहाड़ियों से घिरा हुआ है. इस मंदिर के पास की पहाड़ी को आकेडा डूंगर के नाम से जाना जाता है. यह जगह धार्मिक स्थल के साथ-साथ एक बेहतरीन पर्यटक स्थल भी है.

पिछले सोलह वर्षों से मंदिर की सेवा पूजा का काम रामबाबू सँभालते हैं. इनके अनुसार राजाओं के जमाने में किसी राजा ने यहाँ पर बाघ से युद्ध करके उसे मार दिया था. बाद में बाघ पर विजय के प्रतीक स्वरुप इस मंदिर का निर्माण करवाया गया.

धनुष धारण करने की वजह से कहलाए धनुषधारी हनुमान

इस मंदिर को धनुषधारी हनुमान मंदिर के अलावा बाघ बाघड़ी हनुमान मंदिर एवं निर्झरा हनुमान मंदिर के नाम से भी जाना जाता है.

इस मंदिर में जो हनुमान जी की मूर्ति है, वह हनुमानजी के अन्य मंदिरों से काफी अलग है. इस मूर्ति की खासियत यह है कि इस मूर्ति ने अपने कंधे पर एक धनुष धारण कर रखा है. सामान्यतः हनुमानजी का यह रूप किसी भी मंदिर में देखने को नहीं मिलता है.

Promote Your Business on Rajasthan Business Directory

मंदिर के सामने एक ऊँचे चबूतरे पर चरण पादुकाएँ बनी हुई हैं. जिस प्रकार हनुमानजी के अधिकांश पहाड़ी मंदिरों में बन्दर मौजूद होते हैं ठीक उसी प्रकार इस स्थान पर भी बहुतायत में बन्दर मौजूद हैं.

धनुष धारण करने की वजह से कहलाए धनुषधारी हनुमान

बारिश के मौसम में यह स्थान अत्यंत मनोरम हो जाता है. जब हम मंदिर के पास में स्थित रेत के टीलों पर चढ़कर चारों तरफ नजर दौड़ाते हैं तो इस स्थान की प्राकृतिक सुन्दरता का वास्तविक आभास होता है.

वैसे तो मंदिर में हमेशा ही श्रद्धालुओं की आवाजाही रहती है परन्तु मंगलवार को यहाँ काफी चहल पहल रहती है. मंदिर में धार्मिक आयोजनों के साथ-साथ सवामनी प्रसादी बनाने की पूरी व्यवस्था है.

Buy Domain and Hosting at Reasonable Price

मंदिर की देखरेख एवं विकास कार्यों के लिए मंदिर विकास समिति की बैठक प्रत्येक माह के अंतिम शनिवार को होती है.

अगर आप धार्मिक व्यक्ति होने के साथ-साथ एक पर्यटक भी हैं तो आपको इस स्थान की यात्रा निसंदेह करनी चाहिए.

Dhanushdhari Hanuman Temple Akedadoongar Jaipur

धनुष धारण करने की वजह से कहलाए धनुषधारी हनुमान Dhanushdhari Hanuman known for wearing bow

Written by:
Ramesh Sharma

ramesh sharma smpr news

Keywords – dhanushdhari mandir, dhanushdhari mandir amer, dhanushdhari mandir Jaipur, dhanushdhari temple, dhanushdhari temple amer, dhanushdhari temple Jaipur, dhanushdhari mandir akedadoongar Jaipur, dhanushdhari temple akedadoongar Jaipur, nirjhara hanuman mandir amer Jaipur, nirjhara hanuman temple amer Jaipur, bagh baghdi hanuman mandir amer Jaipur, bagh baghdi hanuman temple amer jaipur

Read News Analysis http://smprnews.com
Search in Rajasthan http://shrimadhopur.com
Join Online Test Series http://examstrial.com
Read Informative Articles http://jwarbhata.com
Khatu Shyamji Daily Darshan http://khatushyamji.org
Search in Khatushyamji http://khatushyamtemple.com
Buy Domain and Hosting http://www.domaininindia.com
Read Healthcare and Pharma Articles http://pharmacytree.com
Buy KhatuShyamji Temple Prasad http://khatushyamjitemple.com

Our Social Media Presence :

Follow Us on Twitter https://twitter.com/shrimadhopurapp
Follow Us on Facebook https://facebook.com/shrimadhopurapp
Follow Us on Instagram https://instagram.com/shrimadhopurapp
Subscribe Our Youtube Channel https://youtube.com/ShrimadhopurApp

Disclaimer (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं तथा कोई भी सूचना, तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार SMPR News के नहीं हैं,  इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति SMPR News उत्तरदायी नहीं है.

Post a Comment

0 Comments